गोंड आदिवासी समाज और उनके देवी देवता ( गोंडी में सन्देश) –

जिला-आदिलाबाद (तेलंगाना) से नरसिंह राव मड़ावी के साथ में आज चाहाकाडी दसरू जी हैं जो गोंडी भाषा में बोल रहे है कि गोंड समाज और उनके देवी देवताओं का निर्माण कैसे हुआ है. चार देव का निर्माण कैसे हुआ है | हमारे इतने बड़े समाज का निर्माण कैसे हुआ है और 5 देव, 6 देव, 7 देव आदि इस तरह से कई रूप में हमारे देव है और कैसे उनका जन्म कैसे हुआ है ये सब आदिवासियों के घट कहलाते है और इसी के अनुसार हमारे रीति-रिवाज और कानून चलते हैं ऐसा इनका कहना है | वे बता रहे कि कुपार लिंगो और जंगो बाई रायतार गोंड समाज के देवी देवता हैं जिनकी वे पूजा करते हैं यह सब व्यवस्था कैसे बनी इसके बारे में जानना चाहिए. नरसिंह राव मड़ावी@9618275718

ftyk&vkfnykckn ¼rsyaxkuk½ ls ujflag jko eM+koh ds lkFk esa vkt pkgkdkMh nl: th gSa tks xksaMh Hkk”kk esa cksy jgs gS fd xksaM lekt vkSj muds nsoh nsorkvksa dk fuekZ.k dSls gqvk gS- pkj nso dk fuekZ.k dSls gqvk gS | gekjs brus cM+s lekt dk fuekZ.k dSls gqvk gS vkSj 5 nso] 6 nso] 7 nso vkfn bl rjg ls dbZ :i esa gekjs nso gS vkSj dSls mudk tUe dSls gqvk gS ;s lc vkfnokfl;ksa ds ?kV dgykrs gS vkSj blh ds vuqlkj gekjs jhfr&fjokt vkSj dkuwu pyrs gSa ,slk budk dguk gS | os crk jgs fd dqikj fyaxks vkSj taxks ckbZ jk;rkj xksaM lekt ds nsoh nsork gSa ftudh os iwtk djrs gSa ;g lc O;oLFkk dSls cuh blds ckjs esa tkuuk pkfg,- ujflag jko eM+koh@9618275718

Share This:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *