All posts by dinesh watti

19-20 अप्रैल पाउरखेडा गाँव दुर्गकोंदल विकासखंड कांकेर में करसाड़ मेला (गोंडी भाषा में)…

19&20 vçSy ikmj[ksMk xk¡o nqxZdksany fodkl[kaM dkadsj esa djlkM+ esyk ¼xksaMh Hkk”kk esa½—
ftyk&dkadsj ¼NÙkhlx<+½ ls jes’k nqXxk crk jgs gS fd os bl le; nqxZdksany fodkl[kaM ds varxZr ikmj[ksMk xk¡o esa gS ogka ij cksEM+s Mksdjh ekrk ds xknh esa djlkM esyk dk vk;kstu 19&20 vçSy dks djus dk r; fd;s gS ogka ij ml {ks= ds lHkh lkrks HkkbZ nqXxk] /kqokZ] dksyk dYyks] yksx mifLFkr jgsaxs ml ekrk dk djlkM+ 19 dh jkr ls pkyw gksxk vkSj jkr dks iwtk Hkh gksxk vkSj 20 dh ‘kke rd dk;ZØe pysxk | ogka ij vklikl ds xk¡o ds yksx vkSj cM+s&cM+s tkudkj yksx vk;saxs| ;g xk¡o nqxZdksany ls nf{k.k fn’kk dh vkSj 10 fdyksehVj dh nqjh ij gS vkSj Hkkuqçrkiqj ls yxHkx 35 fdyksehVj dh nqjh ij gS| nqXxk@7247490342-

19-20 अप्रैल पाउरखेडा गाँव दुर्गकोंदल विकासखंड कांकेर में करसाड़ मेला (गोंडी भाषा में)…
जिला-कांकेर (छत्तीसगढ़) से रमेश दुग्गा बता रहे है कि वे इस समय दुर्गकोंदल विकासखंड के अंतर्गत पाउरखेडा गाँव में है वहां पर बोम्ड़े डोकरी माता के गादी में करसाड मेला का आयोजन 19-20 अप्रैल को करने का तय किये है वहां पर उस क्षेत्र के सभी सातो भाई दुग्गा, धुर्वा, कोला कल्लो, लोग उपस्थित रहेंगे उस माता का करसाड़ 19 की रात से चालू होगा और रात को पूजा भी होगा और 20 की शाम तक कार्यक्रम चलेगा द्य वहां पर आसपास के गाँव के लोग और बड़े-बड़े जानकार लोग आयेंगेद्य यह गाँव दुर्गकोंदल से दक्षिण दिशा की और 10 किलोमीटर की दुरी पर है और भानुप्रतापुर से लगभग 35 किलोमीटर की दुरी पर हैद्य दुग्गा/7247490342.

Share This:

आदिवासी दादा रो विनय कोलब दादा रो…आदिवासी गोंडी गीत

vkfnoklh nknk jks fou; dksyc nknk jks—vkfnoklh xksaMh xhr
vkflQkckn] ftyk&dqeqje Hkhe ¼rsyaxkuk½ ls vkrjke Hkhejko dksykes ,d xksaMh vkfnoklh xhr lquk jgs gS:
vkfnoklh nknk jks fou; dksyc nknk jks&
Hkxoard flrk iUr lhjs iksds U;saM os&
fdys vik dYys dqj dYyk dqj U;saMxs ojk esa&
i.k Iye frUns ;s esuqaxs cykes&
fou; dksyc nknk jks vkfnoklh nknk jks—

आदिवासी दादा रो विनय कोलब दादा रो…आदिवासी गोंडी गीत
आसिफाबाद, जिला-कुमुरम भीम (तेलंगाना) से आतराम भीमराव कोलामे एक गोंडी आदिवासी गीत सुना रहे हैरू
आदिवासी दादा रो विनय कोलब दादा रो-
भगवंतक सिता पन्त सीरे पोके न्येंड वे-
किले अपा कल्ले कुर कल्ला कुर न्येंडगे वरा में-
पण प्लम तिन्दे ये मेनुंगे बलामे-
विनय कोलब दादा रो आदिवासी दादा रो…

Share This:

हमारे गोंडी आदिवासी गाँव समाज में गोंडी धर्म रीति रिवाज से शादी होती है (गोंडी भाषा में)

xzke&xksfoaniqj] rkyqdk&jktksjk] ftyk&paæiqj ¼egkjk”Vª½ ls ‘;kejko mbds muds xk¡o dh dgkuh crk jgs gS fd os ,d NksVs ls xk¡o ds jgus okys gS vkSj mudh Hkk”kk xksaMh gS muds xk¡o ds lHkh yksx xksaMh cksyrs gS| muds xk¡o esa igys iwjk taxy Fkk| muds xk¡o esa xksaMh /keZ jhfr fjokt ls ‘kknh gksrh gS| muds xk¡o esa xksaMh /keZ ls nsoh nsorkvks dh iwtk djrs gS| mu yksxks us lkspk dh bruh cM+h xksaMh laL—fr gS mlds fy, mUgksaus ,d dSlV fudkyk mldk uke gS ckbZu lqMk okrksM+] bldk vFkZ& pkj cgus jgrh gS mles ls cM+h cgu dh ‘kknh djuk pkgrs gS vkSj cM+h cgu dks ns[kus ds fy, yM+ds okys vkrs gS| yksxks dks ns[kdj NksVh cgu cgqr [kq’k gksrh gS vkSj vktw cktw ds ?kjks esa tkdj cksyrh gS esjh cgu dks ns[kus ds fy, yksx vk;s gS vkSj mlh ls lEcaf/kr ,d xhr xkrh gS:okrsj okrsj gks ckbZu lqMk okrsj gks&

ग्राम-गोविंदपुर, तालुका-राजोरा, जिला-चंद्रपुर (महाराष्ट्र) से श्यामराव उइके उनके गाँव की कहानी बता रहे है कि वे एक छोटे से गाँव के रहने वाले है और उनकी भाषा गोंडी है उनके गाँव के सभी लोग गोंडी बोलते हैद्य उनके गाँव में पहले पूरा जंगल थाद्य उनके गाँव में गोंडी धर्म रीति रिवाज से शादी होती हैद्य उनके गाँव में गोंडी धर्म से देवी देवताओ की पूजा करते हैद्य उन लोगो ने सोचा की इतनी बड़ी गोंडी संस्कृति है उसके लिए उन्होंने एक कैसट निकाला उसका नाम है बाईन सुडा वातोड़, इसका अर्थ- चार बहने रहती है उसमे से बड़ी बहन की शादी करना चाहते है और बड़ी बहन को देखने के लिए लड़के वाले आते हैद्य लोगो को देखकर छोटी बहन बहुत खुश होती है और आजू बाजू के घरो में जाकर बोलती है मेरी बहन को देखने के लिए लोग आये है और उसी से सम्बंधित एक गीत गाती हैरूवातेर वातेर हो बाईन सुडा वातेर हो-

Share This:

ग्राम-सियार, ब्लाक-भैसदही बैतूल जिला मध्यप्रदेश में बड़ादेव का स्थापना किया गया (गोंडी भाषा में)

ग्राम-सियार, ब्लाक-भैसदही, जिला-बैतूल (मध्याप्रदेश) से दशरत इरपाचे के साथ के सोहन सिंह आहके है वे बता रहे है कि सियार गाँव में दिन बुधवार 19 तारीख को गोंडी धर्म के अनुसार बड़ादेव का स्थापना किये और वह बहुत अच्छे ढंग से किया गया और उसमे जुलुस भी निकाला गया और उसमे बहुत भारी जनसँख्या में लोग शामिल हुए ये कार्यक्रम बैतूल जिले में पहली बार हुआ| दशरथ इरपाचे@8120217335.

xzke&fl;kj] Cykd&HkSlngh] ftyk&cSrwy ¼e/;kçns’k½ ls n’kjr bjikps ds lkFk ds lksgu flag vkgds gS os crk jgs gS fd fl;kj xk¡o esa fnu cq/kokj 19 rkjh[k dks xksaMh /keZ ds vuqlkj cM+knso dk LFkkiuk fd;s vkSj og cgqr vPNs <ax ls fd;k x;k vkSj mles tqyql Hkh fudkyk x;k vkSj mles cgqr Hkkjh tul¡[;k esa yksx ‘kkfey gq, ;s dk;ZØe cSrwy ftys esa igyh ckj gqvk| n’kjFk bjikps@8120217335-

Share This:

Share This:

xzke&ykerk] rglhy+ftyk&ckyk?kkV ¼e-ç-½ ls czstyky Vsdke ,d xksaMh tkx:drk xhr lquk jgs gS:

ग्राम-लामता, तहसील+जिला-बालाघाट (म.प्र.) से ब्रेजलाल टेकाम एक गोंडी जागरूकता गीत सुना रहे है:
जगे-जगे माम जगे-जगे माम कोयावासी भाई-
अणि गोंडी भाषा साईं लातुन बाड़ी भूले माई-
तेन बची किम रो दादा बचे किम रो-
रोते वनका बाड़ो वनका मावा गोंडी भाषा-
इक्के वनका अक्के वनका मावा गोंडी भाषा-
रोते वनका बाड़ो वनका मावा गोंडी भाषा-
अणि बड़ा नीक लागिता मावा मात्र भाषा-
तेन बची किम रो दादा बचे किम रो…

xzke&ykerk] rglhy+ftyk&ckyk?kkV ¼e-ç-½ ls czstyky Vsdke ,d xksaMh tkx:drk xhr lquk jgs gS:
txs&txs eke txs&txs eke dks;koklh HkkbZ&
vf.k xksaMh Hkk”kk lkbZa ykrqu ckM+h Hkwys ekbZ&
rsu cph fde jks nknk cps fde jks&
jksrs oudk ckM+ks oudk ekok xksaMh Hkk”kk&
bDds oudk vDds oudk ekok xksaMh Hkk”kk&
jksrs oudk ckM+ks oudk ekok xksaMh Hkk”kk&
vf.k cM+k uhd ykfxrk ekok ek= Hkk”kk&
rsu cph fde jks nknk cps fde jks—

Share This: